DNS

DNS

इंटरनेट पर हम  कोई भी वेबसाइट बनाते है तो उसके पिछे एक ip Address होता है |

जब  भी हम website को सर्च करते है तो IP address के जरीये ही कनेक्ट होता है  |

अपने मोबाइल जो भी contact नंबर  हम उस व्यक्ती के नाम से save करते है |

क्योंकी हमे हर किसी का नंबर हम ध्यान मे नही रख सकते है | इसी तरह वेबसाइट नाम हमे याद रखने मे आसानी होती है |

हमे जब भी कोई वेबसाइट create करनी होती है |

सबसे पहले हमे domain Name Purchase करना होता है |

सिर्फ डोमेन नेम purchase करने से हमारी website Live नही हो जाती है |

उसके लिये हमे होस्टिंग purchase करनी पडती है |

वेबसाइट हम जो भी content upload करेंगे वो होस्टिंग पे ही save होता है |

हम जितने डोमेन purchase करते है |

उनका एक IP address होता है |

हम जब भी अपनी website का address web  browser  मे टाइप  करते है |

तो ये वेब ब्राऊजर DNS के IP से connect होता है | तब हम अपने वेबसाइट पे पहुच जाते है |

 

DNS का फूल फॉर्म   Domain Name Server

DNS का Basic काम किसी भी यूजर-फ्रैंडली डोमेन नेम जैसे www.digi-solution.in का Internet Protocol (IP) एड्रेस 167.71.232.29 है |

और इसे नेटवर्क पर एक-दूसरे की पहचान करने के लिए कंप्यूटर द्वारा उपयोग किया जाता हैं।

Example : – 

डीएनएस एक इंटरनेट फोन बूक है | हमारा डोमेन नेम www.digi-solution.in है |

ये  167.71.232.29 हमारे वेबसाइट का ip address है |

जब कोई भी user www.digi-solution.in इंटरनेट पर सर्च करता है |

तो वेब ब्राऊजर IP (167.71.232.29) के माध्यम से डोमेन नेम को कनेक्ट करता है | और हमे show करते है |

ISP

Avatar
About Parmeshwar Thate 28 Articles
Hello, Friends, I Parmeshwar Thate. I am Admin and Founder of Digi-Solution.in. I am a Post Graduate in Mass Communication and Journalism from North Maharashtra University, Jalgoan (M.H.) On this website, Here, I will share information related to technology & Entertainment. And I will try to teach you. You can also follow us on social media.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


CommentLuv badge